AUTHOR

Rakesh Jhunjhunwala biography | Rakesh Jhunjhunwala

Rakesh Jhunjhunwala

Rakesh Jhunjhunwala biography | Rakesh Jhunjhunwala
Rakesh Jhunjhunwala biography | Rakesh Jhunjhunwala

दोस्त जन्माला की जिन्होंने सिर्फ पांच हज़ार रुपये से शुरुआत की थी और आज आज के समय में भी करीब सोलह हज़ार करोड़ के मालिक बन चूके हैं आज हाल कुछ यूं है कि अपनी अकेले की दम पर मार्केट में उथल

पुथल करवा सकते हैं क्योंकि बहुत सारे इन्वेस्टर्स उन्हीं के नक्शे कदम पर बाजार में अपना दांव लगाते हैं उन्होंने अपने सटीक स्टार्टिंग से खुद को इस मुकाम पर ला खड़ा किया है कि उन्हें भारत के सबसे धनी व्यक्तियों में

शामिल किया जाता है वे मौजूदा समय में भारत के तिरपन में सबसे धनी व्यक्ति हैं तो इसलिए दोस्तों बिना का ज्यादा समय लिए हम जानते हैं कि आखिर कैसे राकेश झुनझुनवाला ने पांच हज़ार रुपये से सोलह हज़ार करोड़ तक का सफर तय किया राकेश रंजन वाला काजल को मुंबई के एक मारवाड़ी परिवार में हुआ उनके पिता एक इनकम टैक्स ऑफिसर थे जिन्हें शेयर मार्केट में भी काफी रूचि थी वे अक्सर अपने दोस्तों के साथ शेयर से

संबंधित बातें करते रहते थे तभी एक दिन करीब चौदह साल की उम्र में राकेश ने अपने पिता से पूछा कि पकड़ शेयर मार्केट क्या होता है तब उन्होंने कहा कि बेटे शेयर मार्केट को समझना इतना आसान नहीं है न्यूज़ पेपर

 पढ़ना करो उसमें हर रोज़ अलग अलग कंपनियों के बारे में जानकारी अधिक होती हैं शेयर मार्केट में पैसा इन्वेस्ट करने से पहले हमें कंपनी के उतार चढ़ाव को जानना चाहिए शेयर मार्केट से संबंधित राकेश की यह

पहली सीट थी धीरे धीरे उम्र बढ़ने के साथ ही साथ राकेश की रूचि शेयर मार्केट में बढ़ने लगी अपने पिता के कहने के अनुसार वह अलग अलग कंपनियों के न्यूज़ से अपडेट रहने लगी और जब उन्हें ठीक ठाक नौलेज हो गया तब उन्होंने अपने पिता से शेयर मार्केट में आने की इच्छा जताई लेकिन उनके पिता ने उन्हें तुरंत मना कर

दिया उन्होंने कहा कि पहले अपनी प्रोफेशनल पढ़ाई पूरी कर लो उसके बाद तुम्हारा जैसा मन होगा वैसा करना आगे चलकर उन्होंने सिडेनहेम कॉलेज ऑफ कॉमर्स एंड इकोनॉमिक्स से अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की

और फिर में वे चार्टर्ड अकाउंटेंट बन गए दूसरे ब्राकेस ने अपनी प्रोफेशनल पढ़ाई पूरी कर ली थी अब समय था मार्केट में उतरने का लेकिन उस समय तक उनके पास इन्वेस्ट करने के लिए कुछ ख़ास पैसे नहीं थे उन्होंने

अपना पहला इन्वेस्टमेंट पांच हज़ार रुपये का किया उससे में बीएसई सेंसेक्स एक सौ पचास अंकों पर था लेकिन उन्होंने अपना पहला बड़ा मुनाफा में कमाया वहीं के से आय में आपको बताता हूँ उन्होंने टाटा टी कंपनी के पांच हज़ार रुपये प्रति शेयर के लिए ख़रीदे और फिर उसे सिर्फ तीन महीने बाद ही उन्होंने रपये के गेट पर भेज दिये

Rakesh Jhunjhunwala

Post a comment

0 Comments