AUTHOR

Neetu Singh Biography | Neetu Singh | नीतू सिंह जीवनी

Neetu Singh Biography | Neetu Singh | नीतू सिंह जीवनी


Neetu Singh Biography | Neetu Singh | नीतू सिंह जीवनी
Neetu Singh Biography | Neetu Singh | नीतू सिंह जीवनी
Neetu Singh Biography
बच्चे इम्युनिटी सच्ची सा रीजेंसी के ताने मैने भी ये कहानी है बेबी सोनिया की वह सोनिया जो आगे जाकर बनी मशहूर मार्ग अभिनेत्री नीतू सिंह का जन्म आठ जुलाई से नौसो अठावन में हुआ था उनका जन्म राजधानी दिल्ली

में हुआ माँ का नाम राजी कौर और पिता दर्शनसिंह और बहुत छुटपन में ही उन्होंने बॉम्बे की तरफ रुख किया इनकी पढ़ाई लिखाई हुई मुंबई के हिल ग्रांड हाई स्कूल पे रोड क्रिकेट स्थानी के आधार पर मेरे पिताजी ने मुझे एक गाना दिखाया है ये किस्सा भी मौजूद रहा कि एक बहुत जबरदस्त प्रदूषण को एक चाइल्ड आर्टिस्ट की

जरूरत थी किरदार बड़ा अच्छा था सोनिया की मम्मी ले गए ऐसे ऑडिशन के लिए जैसे बेबी सोनिया कमरे में दाखिल हुई तो शाह कुछ बोल पाते उससे पहले इस बच्चे ने कह दिया ये क्या तरीका अंकल बैठने का आपने

पांव टेबल पे क्यों रखे हुए हैं और शर्ट खुले हुए आपकी मम्मी आपको डांटती नहीं है क्या प्रोडूसर हैरान रह गया उसने पांव नीचे करें शर्ट का बटन लगाए और कहा कि यह बच्ची चाहिए बस बाकी ऑडिशन के अनुसार कर दो

 इस तरह से बेबी सोनिया की शुरुआत हुई बतौर चाइल्ड तेज जिन दो कलियां में उनका अभिनय देखते ही बनता था जिसमे की माँ की भूमिका निभाई थी माला सिन्हा ने और पिता विश्वजीत गौर करने वाली बात यह भी है कि

इस फ़िल्म में नीतू का डबल रोल था बातचीत है क्योंकि हम दोनों की सूरत है उसके बाद सोनू ने सुबह घर आया जब उनका एडमिशन हुआ रिक्षावाला के लिए बहुत साड़ी लड़कियों का ऑडिशन किया गया था पर सेलेक्शन का हुआ और उनकी हीरोइन हुए जो आगे जाकर उनके एजेंट बने जी हाँ रणधीर कपूर आपके कस्टम एक

गतिविधि के नम जयपुर चावल के प्रारंभ में वह तरी जाएगा खाने की समीक्षा वाला बॉक्स ऑफिस पर कुछ ख़ास कमाल नहीं दिखा पाई थी लेकिन उसके बाद उन्नीस सौ तिहत्तर की फ़िल्म यादों की बारात में जबरदस्त गाना

आया जिसमें नीतू सिंह जैसा डांस किया प्रोडेक्ट इन्हें नज़रअन्दाज़ न कर सकें  मेरी दादी मामले में दखल देने वाली कान खोलकर सुन लो मैं मालिक हूँ मुझ पर किसी का जूठा पानी चलता गौर करने वाली बात यह है कि

जब राजकपूर साहब फ़िल्म बॉबी का निर्माण करने वाले थे तभी नीतूसिंह ऑडिशन किया गया था कॉम्पटीशन जबरदस्त था डिंपल कपाड़िया और नीतू सिंह के बीच राजकपूर ने ये फैसला छोड़ा उस जमाने की मशहूर

अभिनेत्री सिमी गरेवाल के ऊपर और पूछा कि बताओ इन दोनों में से कौन बेहतर है सिग्रीवाल ने डिंपल कपाड़िया बेहद रखा और राजकपूर साहब ने कहा मुझे भी डिंपल ज्यादा अच्छी लगी पर फ़िल्म के हीरो ऋषि

कपूर की किस्मत कुछ और ही कहानी बयां करने वाली थी क्योंकि ऋषि कपूर को नीतूसिंह ज्यादा अच्छी लगी और उनके साथ रोमांस के बाद उनकी शादी हो गयी Neetu Singh Biography

Post a comment

0 Comments