AUTHOR

Mehmood Biography | Biography of mehmood | महमूद की जीवनी

Mehmood Biography | Biography of mehmood | महमूद की जीवनी


चंदा चंदा तीसरे ने चुराई हुई देरी में भी निधी झा के साथ ही रहना ये रैना राज़ में जारी रहना केले रैना एक मांगा किशन ने कु मार दिया मुख् य नहीं खुद किशन को हो तुम मेरेको नहीं मालूम है लेकिन टेबल पर खड़े लोग

हमारे काम का अधिकार पड़ रहे यह कला का रहे हैं तो स्क्रीन बनाते हैं तो दुखी से दुखी मन भी खु़श हो जाता है पेट पकड़कर लोग बसते हैं भारतीय सिनेमा के ऐसे कमीडियन जिसमे जब जहाँ हटाया और जब चाहा रुलाया

हम बात कर रहे हैं प्रदूषण डायरेक्ट महमूद अली खां की जन्म तिथि सितंबर में हुआ वक्त में कहाँ तक चल नहीं मानती है तो उसका परनाम प्यारे महसूस हुई तथा जहाँ जहाँ से मैं हुए कहा कि क्या नहीं चाहती माता पिता खुद

एक्टर और डांसर थे मुंबई में अक्सर यह स्टेज शोज में नजर आते थे और साथ ही कुछ फिल्मों में भी मेहनत साथ की एक बड़ी बहन थी अच्छे छोटे भाई बहन इनकी बहन ममता एक बहुत ही प्रतिभाशाली डांस और एक्ट्रेस की

ये किस्सा मशहूर है कि महमूद साहब अक्सर शरारतें किया करते थे और एक ऐसी ही शरारत की वजह से उन्हें बॉम्बे टॉकीज की फ़िल्म किस्मत में बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट काम मिला हुआ यूं था कि अशोक कुमार यानी दादा

की जो फ़िल्म किस्मत के हीरो थे एक चाइल्ड आर्टिस्ट ढूँढ रहे थे जो उनके बचपन का रोल प्ले कर सके ऐसे में स्टूडियो के एक शैतान बच्चा नजर आया और मैं प्योर नहीं होती महमूद साहब दादा मुनि ने देखा फाइनल कर

दिया इस तरह से उनके करियर की शुरुआत हुई अमित आले या तो क्या हुआ तेरा पालने ही हम तेरे तेरे तेरे चाहने वाले हैं उनका लें है तो क्या घुमाते पाले आई अनुसार हर तरीके का छोटा मोटा काम किया जिससे इनकी

रोज़ी रोटी चल सके ये बतौर ड्राइवर काम करते थे यहाँ तक कि अंडे और कोल्ड ड्रिंक्स बेचा करते थे और रजनी क्वीन मीना कुमारी को टेबल टेनिस सिखाया करते थे इस तरह से इनका थोड़ा बहुत गुज़ारा हो जाया करता था

आज मिलने एक लड़की जिसे देखें तब भी यह फल की तुलसा उसका मुख थोड़ा पहचान पत्र जैसे टुकड़ियां कुमारी ने इनकी मदद करने की कोशीश की और एक बड़े प्रड्यूसर डायरेक्टर बीआर चोपडा से कहा कि आप

महमूद को जरूर दीजिए पर जब महमूद साहब को इस बात का पता चला तुझे आप इनकार कर जब फ़िल्म से बाहर आ गए यह कभी नहीं चाहते थे कि किसी तरह से उनके स्वाभिमान को कोई ठेस पहुंचे इसके बाद मशहूर मारुति दूसरे डायरेक्टर गुरुदत्त के साथ उनकी ट्यूनिंग बहुत अच्छी जमी गुरुदत्त साहब के

Post a comment

0 Comments