AUTHOR

jasprit bumrah biography | biography of jasprit bumrah | jasprit bumrah

jasprit bumrah biography

jasprit bumrah biography | biography of jasprit bumrah | jasprit bumrah
jasprit bumrah biography | biography of jasprit bumrah | jasprit bumrah

दुसरो किसी तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह पर बिल्कुल सटीक बैठता है तो यह ग़लत नहीं होगा क्योंकि तेज बॉलिंग के एक क्षेत्र में हमेशा से ही पीछे रहने वाले भारतीय क्रिकेट टीम को एक नई ताकत देने वाले जसप्रीत

बुमराह था अभी तो का यह सफर इतना आसान नहीं था क्योंकि एक मिडिल क्लास फैमिली में पैदा होने के बाद जब घर के मुखिया की वृद्धि बहुत जल्दी हो जाएगा तो फिर जिंदगी रुक सी जाती है लेकिन इस तरह से अपने

संघर्ष के दम पर बुमराह ने सफलता पाई आज के इस वीडियो में हम यह जानें तो चलिए क्षति की ओर करोड़ तेज रफ्तार से किसी भी बल्लेबाज को परेशान करने वाले बॉलर बुमराह के लाइफ स्टोरी को हम शुरू से जानने की कोशीश करते हैं खुद को इस कहानी की शुरुआत होती है छह दिसम्बर में जब गुजरात के अहमदाबाद में

जसप्रीत बुमराह का जन्म हुआ उनके पिता का नाम जसवीर सिंह था जो कि पेशे से क्लास में थी और उनकी माँ का नाम दलजीत जो कि एक स्कूल में बतौर प्रिंसिपल काम किया करती है और इसके अलावा जसप्रीत के सामने jasprit bumrah

उनकी एक बयान भी हैं जिनका नाम जोड़ता है और दूसरों को ग्राहकों शुरु से खेलों में काफी दिलचस्पी थी और खासकर व क्रिकेट को सबसे ज्यादा पसंद करते हो और वह शुरु से ही आप बच्चों से अलग की क्योंकि जहाँ

आमतौर पर बच्चों को बैटिंग करना ज्यादा पसंद होता है वहीं उन्हें बॉलिंग करने का हालांकि जस्टिस जब वह सात साल के थे तभी एक गंभीर बीमारी की वजह से उन्होंने अपने पिता को खो दिया और इन कठिन jasprit bumrah

परिस्थितियों में मानसून के परिवार पर आकर्षित पड़ी और इस घटना से जसवीर के साथ साथ उनकी बहन और माँ सभी लोगों को बहुत ही गहरा सदमा पहुंचा लेकिन जसप्रीत की माँ ने बहुत ही जल्दी खुद को सम्भाला और अपने बच्चों के भविष्य को बनाने में जुट गई और फिर समय के साथ जसप्रीत बुमराह का भी क्रिकेट में दस

बढ़ता गया और चौदह साल की उम्र में उन्होंने क्रिकेट में करियर बनाने की इच्छा अपने माँ के सामने ज़ाहिर की हालांकि यहाँ पर पहले तो उनकी माँ ने साफ साफ मना कर दिया क्योंकि वह जानती थीं कि  उन्हें हमारा पेज का टेंशन में ट्रेनिंग के लिए चुना गया और दूसरा आपको बता दें कि हमारा पेज कॉर्पोरेशन बेसिकली चेन्नई में स्थित

 हाथ डॉलर के लिए कोचिंग सेंटर है जहाँ पर अनुभवी कोचेस और एक्सपर्ट देख रखी है यह बात अपनी गेंदबाजी को दिखाते हैं और इस फाउंडेशन नहीं भारतीय क्रिकेट को इरफान पठान मुनाफ पटेल आर पी एन चाहिए था और इस वजह से कई सारे तेज गेंदबाज हैं औरjasprit bumrah


Post a comment

0 Comments