AUTHOR

Guddi Maruti Biography | गुड्डू मारुती जीवनी

Guddi Maruti Biography | गुड्डू मारुती जीवनी 

Guddi Maruti Biography

डी मारुति जन्म हुआ चार अप्रैल सन् में इनके पिता मारुति को देख डिटेक्टर थे और माँ कमाल भी एक अभिनेत्री हैं रुकी थी गोली मार दी कॉमेडी देखी है आपने शोला और शबनम में भी नंबर वन में चमत्कार के खिलाड़ी में

और यह फेहरिस्त बहुत लंबी है ये जो कहती है ना के दिखाती है खाने की खुद पे चार एक एक करके गोली मारी थी दरअसल नाम रहा ताहिरा पर हवा यू कैन के वाले मिस मारुति पर बड़े अच्छे एक्टर डायरेक्टर थे उन्होंने मैं डाइट की जैसे की हम सब चोर है बाकी क्या ज्यादा कहीं आर कहीं पार सब उस्ताद है और अक्सर नननी

ताहिरा अपने पिताजी के साथ शूटिंग देखने जाती जहाँ पर एक फ़िल्म बन रही थी जहाँ से है जिसमें चाइल्ड आर्टिस्ट की जरूरत थी और नानी ताहिरा को रोल दे दिया गया चुकी उनके घर का नाम गुड्डी है इसलिए क्रिकेट में नाम गुड़िया को टेक्स्ट मनीराम हाँ वो शहर से भाग कर पुलिया बनाने शादी कराई शादी क्या बात कर रहे हो ये देख या फ़ोन करके बैठा है मनमोहन देसाई साहब उनका नाम चेंज करना चाहते भी थे उन्हें लगरहा था कि

गुड्डी अच्छा नाम है जो की सब लोग कहते थे कि गुडी कौन और दीदी की बेटी इसलिए उनका नाम गुड्डी मारुति पड़ गया जहाँ से रह के बाद ये नजर आईं विजय सदाना की फ़िल्म सौ दिन सास के में जिसमें इनकी उम्र मात्र

चौदह साल थी उसमें गाना था मोटी पहले पैड गई और तब तक अभिनेता प्रीति गांगुली ने वजन लूज कर दिया था और वो करेक्टर के लिए ठीक नहीं लगा रही थी इसलिए गुड्डी मारुति के बारे में सोचा गया कि इसका निशाना

बना हुआ अभिनेता अली खां इनके मुताबिक इनके घर खर्चा चलाना शुरू कर दिया जब छोटी थी जबकि पिता गुजर गए और घर के चूल्हे का चलना ज़रूरी था ना इसलिए उन्होंने काम शुरू किया बहुत सारे अभिनेत्री ने कहा कि तुम हेरोयन बन जाओ लेकिन अपने पहले के नेत्री प्रीति गांगुली को देख चुकी थीं कि उन्होंने कितना से वजन दुरुस्त करके हिरोइन बनने की कोशीश की और फ़िल्म इंडस्ट्री से बाहर हो गई पर्चियों की बुद्धि मारुती फ़िल्म इंडस्ट्री की बची रही इसलिए बहुत सारे एक्ट जोखिम के पिता के दोस्त इनके पिता के गुजर जाने के बाद भी

इनकी मदद करते रहे हालांकि जब बुद्धि भारती स्कूल जाया करती थी तब लोग उनका मजाक उड़ाते है और कैसे अरे मोटी कौन सी शक्ति अच्छा खाती है जब से लड़ाई भी करती पर एक दिन के पिता ने उनसे कहा कि देखो बेटा तुम फ़िल्म की हिरोइन नहीं हो तो उनकी कमीडियन हो इसलिए बहुत जरूरी है कि तुम खुद अपने आप पास हो बस वहाँ से उन्होंने मन बना लिया कि अब अप मोटापे पर यह खूबी हंसेंगी जब

Post a comment

0 Comments