AUTHOR

Danny Denzongpa life Story | Danny Denzongpa - Biography in Hindi | Danny Denzongpa | डैनी डेन्ज़ोंगपा जीवन कहानी

Danny Denzongpa life Story | Danny Denzongpa - Biography in Hindi | Danny Denzongpa | डैनी डेन्ज़ोंगपा जीवन कहानी

Danny Denzongpa life Story | Danny Denzongpa - Biography in Hindi | Danny Denzongpa | डैनी डेन्ज़ोंगपा जीवन कहानी
Danny Denzongpa life Story | Danny Denzongpa - Biography in Hindi | Danny Denzongpa | डैनी डेन्ज़ोंगपा जीवन कहानी

सिर्फ इंश्योरेंस लॉन्ग पा और हम उन्हें डैनी डेन्जोंगपा के नाम से जानते हैं जी हाँ फ़िल्म इंडस्ट्री का भक्त वां रिजनल कंचा चीना यानी जो कपड़ों पर रंग चढ़ा दें उसे रंग रेज़ा कहते हैं और जिंदगी पे जो मौत कदम चढ़ा दी उसे चमकी सा कहते हैं डैनी डेन्जोंगपा का जन्म पच्चीस फरवरी सन् उन्नीस सौ अड़तालीस हुआ क्योंकि भारत

के सिक्किम इलाके से ताल्लुक रखते हैं तो वहीं पर उन्होंने अपनी पढ़ाई की ये सच है जैसा और बात है कि जब डैनी डेन्जोंगपा ने इच्छा ज़ाहिर की कि वो इंडियन आर्मी जॉइन करेंगे तब उनकी माता जी को चिंता हुई तब उनकी माता ने सुझाया कि बेटा आमिर की जगह क्यों नहीं किसी क्लास क्षेत्र में चले जाते हैं लिहाजा डैनी

डेन्जोंगपा ने एफटीआईआई का रुख किया  तो कोई इनकी बोली का उनके नाम को लेकर सभी हंसते तब इनकी बड़ी गहरी दोस्त जब हाँ दूरी थे इनकी मदद की और कहा तुम अपना नाम डैनी क्यों नहीं रखते क्योंकि हर कोई सैनिक पेंशन पेंशन पता नहीं भुला सकता है इसलिए डैनी डेंजोंग्पा जुबान पर चढ़ने वाला नाम है और यूं
इनका नाम जानी था जब से बच्चे माँ के पेट में मरते है त्वचा का एक दुश्मन पैदा होता है जिससे इसका थी धूम धाम से निकली चाहिए चिता इतनी दूर चलाई जाएगी कि उसका थोड़ा भी चले जा के इलाके को लाभ हो सके अपनी ट्रेनिंग खत्म होने के बाद उन्होंने एफडीआई में ही बतौर योगा टीचर भी काम किया और अपने बहुत सारे

 जूनियर्स को योग से आया था आतंक था की मेहनत रंग लायी गुजरे वक्त के मशहूर मार्केट इसे डायरेक्ट भी आशारानी ने ब्रेक दिया फ़िल्म जरूरत नहीं है अपने चैनल से कहना ये तो हमें पसंद आया ऐसे मर्दाना सेवर हमें अच्छे लगते है अभी क्योंकि गाड़ी शुरू हुई थी कि सामने बहुत सारे कठिनाई और तब एक बार फिर उनकी

सहेली जया भादुरी ने उनकी मदद की ये वो वक्त था जब गुलजार साहब फ़िल्म मेरे अपने का निर्माण कर रहे थे जहाँ जी ने चिट्ठी लिखी और कहा कि डैनी को भी इस फ़िल्म में मौका मिले की सलाह से फिर मेरे अपने कार्य की सामने उसके बाद यह चौथा साथ ही फ़िल्म धुंडने सब कुछ बदल के रख दिया

                                                     Danny Denzongpa life Story
Danny Denzongpa life Story | Danny Denzongpa - Biography in Hindi | Danny Denzongpa | डैनी डेन्ज़ोंगपा जीवन कहानी
Danny Denzongpa life Story | Danny Denzongpa - Biography in Hindi | Danny Denzongpa | डैनी डेन्ज़ोंगपा जीवन कहानी
Danny Denzongpa life Story

Post a comment

0 Comments