AUTHOR

Lata Mangeshkar Biography in Hindi | लता मंगेशकर का जीवन

Lata Mangeshkar Biography in Hindi | लता मंगेशकर का जीवन

Lata Mangeshkar Biography in Hindi | लता मंगेशकर का जीवन
Lata Mangeshkar Biography in Hindi | लता मंगेशकर का जीवन

नाम गुम जाएगा चेहरा ये बदल जाएगा मेरी आवाज ही पहचान है घर जा रहे सुर साम्राज्ञी लता होंगे  हिंदुस्तान की सबसे मशहूर आवाज़ भारतरत्न लता मंगेशकर है जब हम प्यासे लता दीदी कहते है एन जीवन में कुछ दिनों से जाने में पुष्प भी जन्म अट्ठाईस सितंबर तक में हुआ इनके पिता स्वर्गीय दीनानाथ मंगेशकर खुद जानीमानी हस्ती थे नाटक होगया जीत दोनों में ही उन्होंने अपना एक अलग मुकाम बना रखा था ये किस्सा मशहूर रहा कि शुरू में लता मंगेशकर को संगीत सिखाया जा रहा था उनके बाबा दीनानाथ मंगेशकर जी के बहुत से शिक्षित है एक 




मितवा  बात से बेखबर थी कि पीछे उसके पिता खड़े दीनानाथ मंगेशकर जी ने लता जी की आई से कहा कि मैं तो बाहर के बच्चों को सीखा रहा हूँ मुझे खयाल नहीं था कि यह गंवाया जो हमारे घर में भी है और उस दिन से घर ही लगा जो कि संगीत की शिक्षा शुरू हुई शुक्रिया डेटा को दिल्ली की तुम्हीं गोपबंधु था जूही बहुत पर नहीं लता मंगेशकर अपने पिता दीनानाथ मंगेशकर के साथ स्टेज पर परफॉर्म करती थी एक मत दबा हुआ ये कि नाटक चल रहा था जिसमें नारद का किरदार निभाने वाले अभिनेता नहीं पहुँच पाया दिनानाथ मंगेशकर परेशान थे

Lata Mangeshkar Biography in Hindi | लता मंगेशकर का जीवन

Lata Mangeshkar Biography in Hindi | लता मंगेशकर का जीवन
Lata Mangeshkar Biography in Hindi | लता मंगेशकर का जीवन

अनन् य से लगाने जाके कहा कि बाबा कोई बात नहीं वो नहीं आया तो अगर आपके नए उसका रोल निभा देती दीनानाथ मंगेशकर को ज़रा भी लगा और कहाँ कहाँ कितनी छोटी सी है और स्टेज पे तू मेरे गाना गाएगी अजीब सा लगेगा पर लताजी ने कहा बाबा देखना मैं वंस मोर लेकर आउंगी एक अवसर दें और कोई चारा भी नहीं हुआ अभिनेता और गायक अभी तक तो आया नहीं और इस तरह से लताजी ने अपने बाबा के साथ तूफान क्या आज


लता मंगेशकर का जीवन
किन वंश फ़ोन आया बच्ची मनी की स्थिती सारे जदयू की प्रति ताने है जो लताजी की आवाज के जादू ने फ़िल्म जगत में धूम मचाई पर इस मुकाम तक पहुंचने से पहले लताजी की जिंदगी में आज आप उतार चढ़ाव रहे बचपन में ही इनके पिता दीनानाथ मंगेशकर जी जो खुद एक बहुत बड़े छोटे से ज़्यादा थे उन्होंने लता जी से कहा था कि वे एक बेटी तो आगे जाकर इतनी सफल होंगी जिसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता लेकिन असफलता को देखने के लिए मैं

Post a comment

0 Comments