AUTHOR

Divya Bharti Biography in Hindi | दिव्या भारती की जीवन की कहानी | अभिनेत्री दिव्या भारती की जीवनी

Divya Bharti Biography in Hindi | दिव्या भारती की जीवन की कहानी | अभिनेत्री दिव्या भारती की जीवनी


Divya Bharti Biography in Hindi  दिव्या भारती की जीवन की कहानी  अभिनेत्री दिव्या भारती की जीवनी
Divya Bharti Biography in Hindi  दिव्या भारती की जीवन की कहानी  अभिनेत्री दिव्या भारती की जीवनी


दिव्या भारती की जीवन की कहानी 

लिए चुलबुली अभिनेत्री दिव्या भारती पूरा नाम दिया ओम प्रकाश भारती दिव्या का जन्म पच्चीस फरवरी सन् मुंबई में हुआ आमतौर पर जब भी दिव्या भारती का नाम सामने आता है तो लोगों के ज़हन में यही बात आती है यार ये तो वही हिरोइन थी ना जो बहुत कम उम्र में गुजर गयी थी अपने घर की खिड़की से गिर गयी थी और उसकी मौत हो गयी अंत से पहले की शुरुआत की 


दास्तां है विद्या भारती की यह ज़िंदगानी एनिकट ऐसे बुलाया दिव्या भारती ने यूं तो अपना कैरियर शुरू किया था तेलुगु फिल्मों से पहली फ़िल्म थी वो भी राजा जो कि सन् उन्नीस सौ नब्बे में आई थी और उसके बाद हिंदी फिल्मों की तरफ से उन्होंने रुख किया है भारती खर जाए हाई क्या स्माइल हैं उबरा कीमत क्या कर जाएं दिव्या भारती के पिता ओम प्रकाश भारती दरअसल 


एक इंश्योरेंस ऑफिसर थे दिव्या भारती अपने पिता की दूसरी पत्नी की संतान रहीं नाम रहा मीता भारती उनके छोटे भाई का नाम है कुणाल इनके पिता की पहली बीवी से भी दो संतान हुई थी अभिनेत्री कायनात अरोरा इनकी कज़न है दिव्या ने भाई के जुहू इलाके के मानिक जी कूपर हाई स्कूल से पढ़ाई की उन्होंने लाइंस थाने तक पढ़ाई की ये बड़े ही साधारण विद्यार्थी पढ़ाई के


 बीच में ही उन्होंने एक्टिंग का दामन थाम लिया था गाने बनावट आने से पहले ध्यान की एक महिला तक को भी रह मरदान कानूनी तरी सूरत देखें तो दरअसल फ़िल्म मेकर नन्द तोलानी ने दिव्या भारती को तलाशा था हालांकि दिव्या की शुरुआत सन् उन्नीस सौ अट्ठासी की फ़िल्म गुनाहों का देवता से होनी थी पर इनका रोल हटा दिया गया था तथा उन्होंने जबरदस्त अभिनेता

Divya Bharti Biography in Hindi

 गोविंदा के बड़े भाई कीर्ति कुमार ने एक वीडियो लाइब्रेरी में दिव्या को देखा था और मन बना लिया था कि फ़िल्म में राधा का संगम में गोविंदा के साथ दिव्या को बतौर हीरोइन दिया जाएगा कमाल की बात यह है कि दिव्या को साइन किया गया था पर आखिरी मौके पर जूही चावला गई और दिव्या फ़िल्म से बाहर हुई मगर एक बात कान खोलकर सुनो एक सौदा तुम्हें बहुत महंगा 


पड़ेगा ऐसा एक बार नहीं बल्कि कई मर्तबा हुआ अक्सर ऐसे मौके आए जब दिव्या को फ़िल्म से बाहर किया गया और दूसरी अभिनेत्रियों को जगह मिली यह बात रुकी रहीं इनका करियर रुका रहा लेकिन डी रामानायडू जब आए तो उन्होंने अपनी तेलुगु फ़िल्म बोबिली राजा में इन्हें दग्गुबती वैंकटेश के साथ बतौर हीरोइन लिया बबली राजा जबरदस्त हिट साबित हुई और फिर एक 

अभिनेत्री दिव्या भारती की जीवनी

तमिल फ़िल्म में दिव्या नजर आए धन अनथा नी ला पैन है जिसमें आनंद इनके हीरो थे तेलुगु सिनेमा में दिव्या भारती ने धूम मचा दी थी अलाउड भी आलू रही हो या फिर असं भी राउंड जिसमें चिरंजीवी और मोहन

Post a comment

0 Comments