AUTHOR

Chhotu Shafique Biography in Hindi छोटू की जीवनी हिंदी में

Chhotu Shafique Biography in Hindi छोटू की जीवनी हिंदी में

Chhotu Shafique Biography in Hindi छोटू की जीवनी हिंदी में
Chhotu Shafique Biography in Hindi छोटू की जीवनी हिंदी में

 तो लाते जिंदगी संघर्षों का सामना नहीं जिनसे होकर हर व्यक्ति को यात्रा करना पड़ता है जो व्यक्ति इस यात्रा को मंगल में करते हुए आगे बढ़ते जाता है वो वसे ही पहुँचती है जहाँ पर उनकी मंजिलें होतीं हैं दोस्तों आज हम लोगों को एक ऐसे शख्स के बारे में जान लेंगे जिन्होंने अपने टैलेंट और मेहनत के दम पर दिखा दिया कि इस दुनिया में नाकाम व्यक्ति को भी कर सकता है जी हाँ दोस्तों हम बात कर रहे हैं छोटे ज्यादा के बारे में जो एक


फॉकनर वाइन अरे दोस्तों आप लोग तो इनको पहचान नहीं होंगे और अगर नहीं पहचानने है तो हम आपको बता दें कि खंभे सी मूवी यूट्यूब चैनल पर पीटी डालने के लिए मशहूर रहे दूसरे हाथ पर छोटे तो है लेकिन इनके टैलेंट की वजह से आज इनकार लाखों फैंस हैं और इनके वीडियो यूट्यूब पर अपलोड करते हैं पर मिलियन सक्रिय हो जाते हैं पिछली त्रुटि के बारे में हम लोग शुरु से जान लेते हैं दोस्त शुद्धता का जन्म पच्चीस अमर उन्नीस सौ इक्यानवे को महाराष्ट्र के मालेगांव में हुआ था दोस्त का नाम शैक्षिक नाट्य है लेकिन इनके हाथ की छोटी होने


 के कारण ज्यादा लोगों ने छोटु दादा के नाम से बुलवाते है दोस्तों सफेद नाते अपनी शुरु की पढ़ाई मालेगांव से ही की है दोस्तों से ठीक नाते हमेशा से ही सोचते थे कि हम यहाँ पर कुछ भी नहीं कर सकते हैं और कुछ करने की कोशीश भी करते हैं तो असफल रहते हैं और लोग मजाक भी उड़ा देते वे अपने आप को इतना तोड़ लिए थे कि यहाँ तक कह दिया कि हम कुछ धरती का कोई माना जाएगा हमको जीने आना जीने से कोई फायदा नहीं है ऐसे हालातों में ही हुए कैसे आर्टिस्ट को देखें जिसका पर बहुत छोटा था लेकिन वे लोगों को इंटरटेन करता था

 छोटू की जीवनी हिंदी में

उसको ही देखकर शैक्षिक सोच लिए कि जब ये लोगो को हँसा सकता है तो हम क्यों नहीं आ सकती फिर उसके बाद से ही कोई मेहनत करना शुरू करती सैनिक ने लोगों पहुंचाने के लिए तो एक्सपर्ट हो गए हैं लेकिन वे यह सोचकर अपने मन छोटा कर देते थे कि हम लोगों को कैसे हंसाया है अपने टैलेंट को लोगों तक कैसे पहुँचाए इस प्रॉब्लम को मिसौरी नहीं कर पा रहे थे इसी बीच चीन को एक ऐसे यूट्यूबर्स से मुलाकात हुआ जो इनके टैलेंट को कैरियर के रूप में बदल दिया दोस्त तो इनका मुलाकात हुआ था वह सिंहजी सी जूतों पर भी उपयोग करते थे सैनिक के टैलेंट को देखते हुए वे अपनी विधियों में काम करने का मौका दिए इसको लेकर से ठीक मैं बहुत खुश हुए और जमकर

Post a comment

1 Comments