AUTHOR

Kader khan biography in hindi कादर खान का जीवन परिचय

Kader khan biography in hindi

Kader khan biography in hindi
Kader khan biography in hindi


कादर खान का जीवन परिचय


निकाला है हरफनमौला कलाकार कादर खां या वे राइटिंग और डायरेक्शन हो या फिर थिंग हर चीज़ में अव्वल कादर ख़ान यह करवाईये फादर हाँ जिन्होंने सबको बहुत हँसाया तरीके से जिंदगी में गजब ठोक रहे इनके माता पिता मुफलिसी की वजह से एक दूसरे से अलग हुए तेरी माँ है वो भी भागी में मतलब वो नहीं हुआ और कुछ दिनों के बाद दोनों में तलाक हो गयी नाना ने आगे की मात्रा का हो खुद उससे शादी करनी पड़ेगी और उसके


बाद उनकी माँ की दूसरी शादी हुई अपने सौतेले पिता से कारखाने नहीं बनती थी और माँ को जी तोड़ मेहनत करता था एक जटिल था एक बस वो आया जब गली की ओर लड़कों के साथ मिलकर उन्होंने सोचा यह भी जायेंगे और किसी फैक्टरी में काम कर लेंगे मैने किताबें फेंकी मैने कहा ये सही है दिन के दो तीन रुपए मिलेंगे जिससे घर की गरीबी दूर होगी ये अपने दोस्तों से बात कर रहे थे कि उनकी माँ को इस बात की भनक पड़ी और तब इनकी माँ ने उनसे कहा कि तीन रूपये से बेटा घर की गरीबी दूर नहीं होती बाल मजदूरी की तो हमारी


किस्मत नहीं बदल पाएंगे अगर कुछ करना ही है तूफ़ान हमा में तो इच्छा जरूर पूरी करूँगा मैं पढूंगा विकेशन पी और फिर नाटक कर एक करना शुरू कर दिया अरे भाई लोग जब हमारी कहानी सुनता तो खुद को दुख होता है तुम इंसान पेट भरते हैं जूस अपनी प्यास बुझा दें मगर किसी के आगे हाथ भी फैलातें कुछ मदद हो जाती तो खाते ख़ान साहब ने इतनी पढ़ाई की इन्हें डिप्लोमा मिला सिविल इंजीनियरिंग में रह के बीच में ये एम एच सब सिटी कॉलेज नर्सिंग जो कि मुंबई के भायखला इलाके में है वहाँ पढ़ा करते थे और साथ ही साथ नाटकों में भी


इनका काम जारी था महफिल से पूरी तरह से दूर नहीं हुई थी और किस्मत बदलने वाली थी एक अंडे में उन्होंने ऐसा नाटक किया उसे देखने की फरमाइश दिलीप कुमार ने भी एक कॉम्पटीशन हुआ उसने ड्रामा गया लोकल रहे उसको एस एस एस स्पोर्टिंग सब अब मुझे पन्द्रह सौ रुपये कैच जब कुमार साहब ने इनका ने देखा और उन्हें दो फिल्मों के लिए साइन किया

Post a comment

0 Comments