AUTHOR

श्रेया घोषाल का जीवन परिचय Shreya Ghoshal biography in hindi

 श्रेया घोषाल का जीवन परिचय Shreya Ghoshal biography in hindi 


जो रिंग हो दास्तां है कैसी आवाज़ की जिसने बहुत कम उम्र में वो रिकॉर्ड बना दिए जो किसी और गायक
 गायिकाओं के लिए कठिन ही नहीं नामुमकिन है इनकी आवाज में अजब परिपक्वता है अपने बैंकिंग की यह में इनकी आवाज़ का ज़ोर बेजोड़ साबित होता है नाम श्रेया घोषाल जन्म बारह मार्च सन् उन्नीस सौ चौरासी इसकी बाजू में मुझे नहीं ये मात्र चार बरस की थीं जब उन्होंने संगीतकार


श्रेया घोषाल का जीवन परिचय Shreya Ghoshal biography in hindi
श्रेया घोषाल का जीवन परिचय Shreya Ghoshal biography in hindi 
श्रेया घोषाल का जीवन परिचय

 इनकी परवरिश हुई रावत भाषा में राजस्थान के कोटा शहर के नजदीक एक छोटा सा इलाका है इनके पिता विश्वजीत घोषाल एक इलेक्ट्रिकल इंजीनियर रहे और न्यूक्लियर पावर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ये काम करते रहे अंत की माँ का नाम शर्मिष्ठा घोषाल आठवीं कक्षा तक श्रेया घोषाल की पढ़ाई हुई एटॉमिक एनर्जी सेंट्रल स्कूल रावत भाटा में ही उन्नीस सौ पचानवे में,

Shreya Ghoshal biography in hindi 

 ऑल इंडिया लाइट म्यूजिक कॉम्पटीशन उन्होंने जीत लिया और उसके बाद उनके पिता का/ ट्रांसफर हुआ बाबा अटॉमिक रिसर्च सेंटर में ही इसकी वजह से/ पूरा परिवार मुंबई चला आया श्रेया ने बाकी की पढ़ाई पूरी की एटॉमिक एनर्जी सेंट्रल स्कूल अणुशक्ति नगर से एटॉमिक एनर्जी जूनियर कॉलेज में ये पहुंचीं और फिर/ एसआईईएस कॉलेज के/ बाद साइंस कॉमर्स में उन्होंने/ दाखिला लिया इनकी माँ शर्मिष्ठा घोषाल है एक अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिकाएं भाई इनकी आवाज़ की बनावट और उनके करियर में अक्सर यास्मीन की मांग की मदद करती है धीरे धीरे इनकी आवाज़ ख्याति पहुंची महान संगीतकार जोड़ी कल्याणजी आनंदजी के कल्याणजीभाई के पास तकरीबन अठारह महीने तक अब नहीं सीखती रहीं मशहूर रियलिटी शो सारेगामापा से इन्हें बड़ी,

Shreya Ghoshal biography 


 मकबूलियत हासिल हुई उनका पहला रिकॉर्ड बना रहा गणराज रंगी नाचतो जी तो ये चार जब बहुत छोटी थी तब जबरदस्त फ़िल्म डायरेक्टर संजय लीला, भंसाली की नजर इन पर पड़ेगी इनकी आवाज से इतना मुतास्सिर हुए कि कहा मेरी फ़िल्म देवदास में पारो के लिए नहीं की आवाज सूख करती है बस बार बनीं ऐश्वर्या राय पर, इनकी आवाज इस तरह से, जशी हिस्सा मंत्रमुग्ध हो गए, लगरहा था कि श्रेया घोषाल समय क्लासिक और क्लासिक गानों में महारत रखती हैं पर जब गाया जादू है नशा है और चलो तुमको लेकर चलें तब समझ में आ गया ये तो हरफनमौला है श्रेया घोषाल ने ढेर से,

Post a comment

0 Comments